ऐसी हैवानियत,, की रोंगटे खड़े हो जाएंगे।

ससुरालवालों की ये कैसी है हैवानियत की रोंगटे खड़े हो जाएंगे।

दुनियां के सभी रिश्तों से सर्वोपरि माना जाने वाला रिश्ता है पति-पत्‍नी का रिश्ता। पति-पत्‍नी का रिश्ता इतना महत्वपूर्ण होता है कि दोनों अपने इष्‍ट देव को साक्षी मान कर जीवन भर साथ निभाने का वायदा करते हैं। जब एक लड़की दुलहन बन कर पति के घर में आती है तो वहां का सब कुछ उसके लिए नया और अनजाना होता है,लेकिन वही पूरे देश में महिला एवं पुरूष प्रताड़ना के मामले में लगातार बढ़ोतरी हो रही है ।ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया ।जहां महिला को चार वर्षों से महिला को दहेज के लिए चार वर्षों से प्रताड़ित किया जा रहा था । ससुराल जाने पर पीड़िता के साथ कैसा सलूक किया गया जिसे देखकर आप सिहर उठेंगे।

पीड़िता ने बताया 27 अप्रैल 2018 को उनकी शादी निरज कुमार से हुई थी। शादी के तुरंत बाद जब वो आने ससुराल गयीं तो उनसे 15लाख दहेज में रूप में मांग की गई और जब घर वालो ने देने में असमर्थता जताई को ससुराल पक्ष के द्वारा इन्हें मारपीट कर घर से निकाल दिया गया। लगातार सामाजिक दवाब बनाने के बाद भी बात नही मानने पर पीड़िता में हिलसा न्यायालय में केस दर्ज किया गया,जिसका नम्बर 417/2019 है। केस दर्ज होने के बाद प्रशासनिक दवाब के बाद पति रखने को तैयार हुआ। ससुराल वालो के द्वारा कुछ दिनों बाद पुनः 15 लाख की मांग करने लगे, नही दे पाने पर घर वाले जान से मारने की कोशिश करने लगें।

ऐसी हैवानियत,, की रोंगटे खड़े हो जाएंगे।

ससुरालवालों की ये कैसी है हैवानियत की रोंगटे खड़े हो जाएंगे।

दुनियां के सभी रिश्तों से सर्वोपरि माना जाने वाला रिश्ता है पति-पत्‍नी का रिश्ता। पति-पत्‍नी का रिश्ता इतना महत्वपूर्ण होता है कि दोनों अपने इष्‍ट देव को साक्षी मान कर जीवन भर साथ निभाने का वायदा करते हैं। जब एक लड़की दुलहन बन कर पति के घर में आती है तो वहां का सब कुछ उसके लिए नया और अनजाना होता है,लेकिन वही पूरे देश में महिला एवं पुरूष प्रताड़ना के मामले में लगातार बढ़ोतरी हो रही है ।ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया ।जहां महिला को चार वर्षों से महिला को दहेज के लिए चार वर्षों से प्रताड़ित किया जा रहा था । ससुराल जाने पर पीड़िता के साथ कैसा सलूक किया गया जिसे देखकर आप सिहर उठेंगे।

पीड़िता ने बताया 27 अप्रैल 2018 को उनकी शादी निरज कुमार से हुई थी। शादी के तुरंत बाद जब वो आने ससुराल गयीं तो उनसे 15लाख दहेज में रूप में मांग की गई और जब घर वालो ने देने में असमर्थता जताई को ससुराल पक्ष के द्वारा इन्हें मारपीट कर घर से निकाल दिया गया। लगातार सामाजिक दवाब बनाने के बाद भी बात नही मानने पर पीड़िता में हिलसा न्यायालय में केस दर्ज किया गया,जिसका नम्बर 417/2019 है। केस दर्ज होने के बाद प्रशासनिक दवाब के बाद पति रखने को तैयार हुआ। ससुराल वालो के द्वारा कुछ दिनों बाद पुनः 15 लाख की मांग करने लगे, नही दे पाने पर घर वाले जान से मारने की कोशिश करने लगें।

Comments are closed.